Daily Current Affairs (Hindi) - 01.08.2018

राष्ट्रीय

सरकार ने स्‍कैन किए गए दस्‍तावेजों को संपादित करने के लिए मुफ्त सॉफ्टवेयर लॉन्‍च किया

सरकार ने स्कैन की गई छवियों पर पाठ संपादित करने के लिए मुफ्त सॉफ्टवेयर लॉन्च किया आईटी मंत्रालय ने आज स्कैन किए गए दस्तावेजों पर मुद्रित पाठ के संपादन को सक्षम करने के लिए एक डेस्कटॉप सॉफ्टवेयर ई-अक्षययान लॉन्च किया और इसे अपनी वेबसाइट से मुफ्त में डाउनलोड किया जा सकता है।"ई-अक्षययन स्कैन किए गए मुद्रित भारतीय भाषा दस्तावेजों को यूनिकोड एन्कोडिंग में पूरी तरह से संपादन योग्य पाठ प्रारूप में परिवर्तित करने के लिए एक डेस्कटॉप सॉफ्टवेयर है।सॉफ्टवेयर सात भारतीय भाषाओं - हिंदी, बांग्ला, मलयालम, गुरुमुखी, तमिल, कन्नड़ और असमिया में संपादन का समर्थन करता है। इंटरनेट पहुंच में कुछ अंतर मौजूद है और अंतर का 9 0 प्रतिशत भारतीय भाषाओं में सामग्री की अनुपलब्धता के कारण है।

अंतर्राष्ट्रीय

पहला नेपाल-भारत थिंक टैंक शिखर सम्‍मेलन काठमांडू में शुरु हुआ

पहला नेपाल-भारत थिंक टैंक शिखर सम्मेलन दोनों देशों के बीच अधिक सहयोग और ज्ञान साझा करने के लिए काठमांडू में शुरू हो गया है. शिखर सम्मेलन संयुक्त रूप से एशियाई संस्थान के कूटनीति और अंतर्राष्ट्रीय मामलों और नेहरू मेमोरियल संग्रहालय पुस्तकालय द्वारा आयोजित किया जा रहा है.नेपाल के पूर्व प्रधान मंत्री और नेपाल के सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के सह-अध्यक्ष, पुष्पा कमल दहल प्रचंड ने शिखर सम्मेलन का उद्घाटन किया. शिखर सम्मेलन का मुख्य उद्देश्य दोनों देशों में विचार-विमर्शों के बीच बहुमुखी सहयोग के माध्यम से भारत और नेपाल के बीच द्विपक्षीय संबंधों को मजबूत करना है.

4 सत्र-4 विषय:

  • पहला सत्र- भारत-नेपाल थिंक टैंक के बीच अभिनव सहयोग का निर्माण,
  • दूसरा सत्र - साझा समृद्धि के लिए द्विपक्षीय आर्थिक संबंधों को बढ़ावा देना,
  • तीसरा सत्र - सुरक्षा दुविधा का प्रबंधन,
  • चौथा सत्र - 21वीं शताब्दी में नेपाल-भारत संबंधों को फिर से परिभाषित करना.

व्यापार व अर्थव्यवस्था

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने रेपो रेट-रिवर्स रेपो रेट में 0.25% बढ़ोत्तरी की

रिजर्व बैंक ने महंगाई बढ़ने की चिंता में दो माह में दूसरी बार मुख्य नीतिगत दर रेपो में 0.25 प्रतिशत की वृद्धि की है. इस वृद्धि से आने वाले समय में बैंकों से कर्ज लेना महंगा हो सकता है. रिजर्व बैंक ने चालू वित्त वर्ष की तीसरी द्वैमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा में प्रमुख नीतिगत दर रेपो को 0.25 प्रतिशत बढ़ाकर 6.50 प्रतिशत कर दिया. रिजर्व बैंक के गवर्नर उर्जित पटेल की अध्यक्षता में हुई 6 सदस्यीय मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) ने समीक्षा बैठक के तीसरे दिन यह फैसला किया. इसके साथ ही मौद्रिक नीति के रुख को भी तटस्थ बनाए रखा है. समिति ने चालू वित्त वर्ष की जुलाई- सितंबर तिमाही के लिए खुदरा मुद्रास्फीति के अनुमान को 4.2 प्रतिशत पर रखा है, जबकि वर्ष की दूसरी छमाही के दौरान इसके 4.8 प्रतिशत तक पहुंच जाने का अनुमान लगाया है.

मुद्रास्फीति के बारे में आरबीआई का ताजा अनुमान इसके चार प्रतिशत के संतोषजनक माने जाने वाले स्तर से ऊपर हैं. बहरहाल, रिजर्व बैंक ने जीडीपी वृद्धि के अनुमान को 7.4 प्रतिशत पर पूर्ववत रखा है. इस वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में उसने जीडीपी वृद्धि 7.5 से 7.6 प्रतिशत के दायरे में रहने का अनुमान व्यक्त किया है.

क्या है? रेपो रेट
रोजमर्रा के कामकाज के लिए बैंकों को भी बड़ी-बड़ी रकमों की ज़रूरत पड़ जाती है, और ऐसी स्थिति में उनके लिए देश के केंद्रीय बैंक, यानि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) से ऋण लेना सबसे आसान विकल्प होता है.इस तरह के ओवरनाइट ऋण पर रिजर्व बैंक जिस दर से उनसे ब्याज वसूल करता है, उसे रेपो रेट कहते हैं.

रिवर्स रेपो रेट क्या है?
यह रेपो रेट से उलट होता है. जब कभी बैंकों के पास दिन-भर के कामकाज के बाद बड़ी रकमें बची रह जाती हैं, वे उस रकम को रिजर्व बैंक में रख दिया करते हैं, जिस पर आरबीआई उन्हें ब्याज दिया करता है. अब रिजर्व बैंक इस ओवरनाइट रकम पर जिस दर से ब्याज अदा करता है, उसे रिवर्स रेपो रेट कहते हैं.

नकद आरक्षित अनुपात (सीआरआर) क्या है?
देश में लागू बैंकिंग नियमों के तहत प्रत्येक बैंक को अपनी कुल कैश रिजर्व का एक निश्चित हिस्सा रिजर्व बैंक के पास रखना ही होता है, जिसे कैश रिजर्व रेशो अथवा नकद आरक्षित अनुपात (सीआरआर) कहा जाता है. ऐसे नियम इसलिए बनाए गए हैं, ताकि यदि किसी भी वक्त किसी भी बैंक में बहुत बड़ी तादाद में जमाकर्ताओं को रकम निकालने की ज़रूरत महसूस हो, तो बैंक पैसा चुकाने से इन्कार न कर सके. सीआरआर ऐसा साधन है, जिसकी सहायता से आरबीआई बिना रिवर्स रेपो रेट में बदलाव किए बाज़ार से नकदी की तरलता को कम कर सकता है.

खेल

हैमिल्‍टन ने छठी हंगरी फार्मूला 1 ग्रांड प्रिक्‍स जीती

मौजूदा फॉर्मूला-1 चैम्पियन मर्सिडीज के ड्राइवर ब्रिटेन के लुइस हेमिल्टन ने अपने करियर का छठा हंगरी ग्रां प्री खिताब जीत लिया। हेमिल्टन ने इस जीत के साथ ही ड्राइवर स्टैंडिंग्स में फरारी के ड्राइवर जर्मनी के सेबेस्टियन वीटल पर 24 अंकों की बढ़त बना ली है। समाचार एजेंसी एफे की रिपोर्ट के अनुसार, चार बार के विश्व चैम्पियन हेमिल्टन ने पोल पोजिशन से शुरुआत की और 17.123 सेकेंड के साथ वीटल पर बढ़त बना ली।हेमिल्टन ने लगातार दूसरी और सीजन की पांचवीं जीत दर्ज की। उन्होंने यहां अपने करियर की 67वीं जीत अपने नाम की।

फरारी के ड्राइवर जर्मनी के सेबेस्टियन वीटल दूसरे और फरारी के ही एक अन्य ड्राइवर किमी रोइकोनेन तीसरे नंबर पर रहे। रेड बुल के ड्राइवर आस्ट्रेलिया के डेनियल रिकियाडरे चौथे, मर्सिडीज के ड्राइवर फिनलैंड के वाल्टेरी बोटास पांचवें, स्पेन के फर्नाडो अलोन्सो आठवें और रेनॉ के ड्राइवर कार्लोस सैंज नौंवें नंबर पर रहे।रिकियाडरे ने 12वें पोजिशन से शुरुआत की और वह चौथे नंबर पर रहे, इसलिए उन्हें फार्मूला-1 द्वारा ड्राइवर आफ द डे का पुरस्कार दिया गया।

पुरस्कार

एच.डी.एफ.सी को सी.एल.एस.एस योजनाओं के लिए सर्वश्रेष्‍ठ ऋण संस्‍थान के पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया गया

ड्राइविंग होम लोन एचडीएफसी बैंक को ईडब्ल्यूएस (आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग) और एलआईजी (कम आय वर्ग) वर्ग के लिए क्रेडिट जुड़ा हुआ सब्सिडी योजना (सीएलएसएस) में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने योग्य आवश्यक ऋण संगठन प्रदान किया गया है।

"भारत में शहरीकरण तेजी से बढ़ रहा है। 2030 तक इसका मूल्यांकन किया गया है कि भारत की आबादी का आधा शहरी भारत में रहेंगे जो आवास के लिए अधिक रुचि लेता है। विधायिका द्वारा घर के कब्जे के निर्माण के लिए दी गई यह चालक शक्ति असामान्य रही है। इसने भारतीय भूमि क्षेत्र में घर के खरीदारों के उत्साह को बहाल कर दिया है और पहली बार घर खरीदने वालों को घर का दावा करने के लिए और अधिक फायदे का लाभ उठाने की इजाजत दी है, वित्त वर्ष 18 के दौरान एचडीएफसी ने पुष्टि की कि वॉल्यूम शर्तों में 38 प्रतिशत गृह ऋण और ईडब्ल्यूएस और एलआईजी हिस्से से ग्राहकों को सम्मान के मामले में 1 9 प्रतिशत।

इंडिया टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, "सामान्य रूप से संगठन ईडब्ल्यूएस और एलआईजी हिस्से के महीने के महीने में 8,200 ऋण की पुष्टि कर रहा है, महीने के महीने के साथ इस तरह के सामान्य समर्थन लगभग रु। 1,312 करोड़, एचडीएफसी ने कहा। सीएलएसएस को ईडब्ल्यूएस और एलआईजी के ग्राहकों को गृह ऋण के लिए प्रधान मंत्री आवास योजना (पीएमएई) के तहत जून 2015 में प्रस्तुत किया गया था और अप्रैल 2017 से मध्य आय समूह में फैलाया गया था। "

निधन

जॉन शंकरमंगलम

अनुभवी फिल्म निर्माता और भारतीय फिल्‍म एवं टेलीविजन संस्‍थान के पूर्व निदेशक, जॉन शंकरमंगलम (84 वर्ष) का केरल के तिरुवल्ला में आयु संबंधी बीमारियों के कारण निधन हो गया।अपने लंबे करियर में, जॉन ने दो राष्‍ट्रीय और चार केरल राज्य फिल्म पुरस्कार जीते।श्री शंकरमंगलम ने अपने करियर में कुछ फिल्मों और वृत्‍तचित्रों का निर्देशन भी किया था।"अवल अल्पम वैकीप्पोई", "जन्मभूमि" और "सामंथारम" उनकी निर्देशन कृतियों में से थीं।