Daily Current Affairs (Hindi) - 11.07.2018

राष्ट्रीय

आंध्र प्रदेश, तेलंगाना और हरियाणा कारोबार में सुगमताके मामले में शीर्ष

वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्रालय के औद्योगिक नीति एवं संवर्धन विभाग (डीआईपीपी) ने आज नई दिल्‍ली में कारोबार में सुगमताके मामले में राज्‍यों की अंतिम रैंकिंग जारी की। इस मामले में शीर्ष पायदान पर आंध्र प्रदेश, तेलंगाना एवं हरियाणा हैं। झारखंड और गुजरात ने इस मामले में क्रमश: चौथी एवं पांचवीं रैंकिंग हासिल की है। वाणिज्‍य एवं उद्योग मंत्रालय के डीआईपीपी ने विश्‍व बैंक के सहयोग से कारोबार सुधार कार्य योजना (बीआरएपी)के तहत समस्‍त राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों के लिए वार्षिक सुधार सर्वे किया।

इस सर्वे का उद्देश्‍य दक्ष, प्रभावकारी एवं पारदर्शी ढंग से केन्‍द्र सरकार के विभिन्‍न नियामकीय कार्यकलापों एवं सेवाओं की डिलीवरी को बेहतर करना है। वर्ष 2017 तक सुधार योजना में शामिल कार्य बिन्‍दुओं की संख्‍या को 285 से बढ़ाकर 372 कर दिया गया है। राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों ने श्रम, पर्यावरणीय मंजूरियों, एकल खिड़की प्रणाली, निर्माण परमिट, अनुबंध पर अमल, संपत्त‍ि के पंजीकरण एवं निरीक्षण जैसे क्षेत्रों में अपने नियम-कायदों एवं प्रणालियों को आसान बनाने के लिए अनेक सुधार लागू किए हैं। राज्‍यों और केन्‍द्र शासित प्रदेशों ने पंजीकरण एवं मंजूरियों से जुड़ी समय सीमा पर अमल के लिए सार्वजनिक सेवा डिलीवरी गारंटी अधिनियम लागू किया है।

एक नजर अन्य राज्यों की रैंकिंग पर

डीआईपीपी के इस संबंध में जारी बयान के मुताबिक तेलंगाना और हरियाणा इस मामले में क्रमश : दूसरे और तीसरे स्थान पर रहे। कारोबार सुगमता रैंकिंग में शीर्ष दस में झारखंड चौथे स्थान पर, गुजरात पांचवे, छत्तीसगढ़ छठे, मध्य प्रदेश सातवें, कर्नाटक आठवें, राजस्थान नौवें पर और पश्चिम बंगाल दसवें स्थान पर रहा। सूची में मेघालय आखिरी 36 वें स्थान पर रहा।

कैसे होती है रैंकिंग

  • डीआईपीपी, विश्वबैंक के साथ मिलकर देश के सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की कारोबार सुगमता के आधार पर रैंकिंग करता है।
  • डीआईपीपी कारोबारी क्षेत्र में और सुधार लाने के लिये कारोबार सुधार कार्ययोजना (ब्रैप) के तहत यह करता है।
  • ब्रैप 2017 में सुझाए गए कई सुझावों पर बड़ी संख्या में राज्यों ने महत्वपूर्ण वृद्धि दर्ज की है।’’
  • ब्रैप 2017 के तहत सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को संयुक्त अंक प्रदान किए गए।
  • इन संयुक्त अंकों का आधार दो तरह के अंक सुधार साक्ष्य अंकऔर प्रतिपुष्टि अंकहैं।
  • सुधार साक्ष्य अंक राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा उपलब्ध कराए गए साक्ष्यों पर आधारित हैं, जबकि प्रतिपुष्टि अंक कारोबारियों को दी जाने वाली सेवाओं के वास्तविक उपयोक्ताओं से जुटाई गई प्रतिक्रिया के आधार पर तय किए गए हैं।

 अंतर्राष्ट्रीय

विश्व जनसंख्या दिवस: 11 जुलाई

विश्व जनसंख्या दिवस एक वार्षिक कार्यक्रम है, जो हर साल 11 जुलाई को मनाया जाता है, जो वैश्विक आबादी के मुद्दों के बारे में जागरूकता बढ़ाने की कोशिश करता है। विश्व जनसंख्या दिवस 2018 विषय का "परिवार नियोजन एक मानव अधिकार है।"

क्यों मनाते हैं? विश्व जनसंख्या दिवस

आज विश्व जनसंख्या दिवस है, इस दिन को मनाने के पीछे कारण ,हर सेकंड बढ़ रही आबादी के मुद्दे पर लोगों का ध्यान खींचना है। इस दिन की शुरुआत संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (यूएनडीपी) की शासी परिषद द्वारा पहली बार 1989 में तब हुई जब आबादी का आंकड़ा करीब पांच बिलियन के आस-पास पहुंच गया था। संयुक्त राष्ट्र की गवर्निंग काउंसिल के फैसले के अनुसार, वर्ष 1989 में विकास कार्यक्रम मेंविश्व स्तर पर समुदाय की सिफारिश के द्वारा यह तय किया गया कि हर साल 11 जुलाई विश्व जनसंख्या दिवस के रूप में मनाया जाएगा।

विश्व जनसंख्या दिवस मानाने का उद्देश्य

  • अवांछित गर्भधारण से बचने के लिए शिक्षित करना
  • युवाओं को उचित उपायों का उपयोग करके अवांछित गर्भधारण से बचने के लिए शिक्षित करना।
  • सुरक्षित यौन संबंधों के प्रति लोगों को प्रेरित करना।
  • कम उम्र और अधिक उम्र में होने वाली शादी के प्रभाव के बारे में समझाना।
  • जन्म के खतरे के बारे में जन जागरूकता बढ़ाना
  • लोगों को गर्भधारण संबंधी बीमारियों के बारे में शिक्षित करना।
  • कन्या भ्रूण हत्या से रोकना।

साइंस एण्ड टेक्नालजी

चीन ने पाकिस्‍तान के लिए दो रिमोट सेंसिंग उपग्रहों को सफलतापूर्वक लॉन्‍च किया

चीन ने लॉन्ग मार्च-2सी रॉकेट से दो उपग्रह लॉन्च किए हैं. तकरीबन 19 साल के दौरान 'लॉन्ग मार्च-2 सी' रॉकेट का यह पहला अंतरराष्ट्रीय व्यावसायिक प्रक्षेपण है. चीन और पाकिस्तान की दोस्ती पिछले कुछ समय में बढ़ी है और दोनों के ही संबंध भारत से ठीक नहीं हैं. ऐसे में चीन का अंतरिक्ष के क्षेत्र में पाकिस्तान का साथ देना भारत की चिंता बढ़ा सकता है. चीन और पाकिस्तान का इरादा इसके जरिए भारत की गतिविधियों पर नज़र बनाए रखना भी हो सकता है.

पीआरएसएस-1 पाकिस्तान को बेचा गया चीन का पहला ऑप्टिकल रिमोट सेंसिंग उपग्रह है और किसी विदेशी ग्राहक के लिए चाइना एकेडमी ऑफ स्पेस टेक्नोलॉजी (सीएएसटी) द्वारा विकसित 17वां उपग्रह है. पाकिस्तान द्वारा विकसित एक वैज्ञानिक प्रयोग उपग्रह, पाकटीईएस-1 ए को प्रक्षेपण केंद्र से सुबह 11.56 बजे लॉन्ग मार्च रॉकेट द्वारा कक्षा में भेजा गया. अगस्त 2011 में एक संचार उपग्रह पाकसैट-1आर के लॉन्च होने के बाद यह चीन और पाकिस्तान के बीच दूसरा अंतरिक्ष सहयोग है. पीआरएसएस-1 का उपयोग भूमि और संसाधन के सर्वेक्षण, प्राकृतिक आपदाओं की निगरानी, कृषि अनुसंधान, शहरी निर्माण और बेल्ट एंड रोड क्षेत्र के दूरस्थ संवेदन जानकारी हासिल करने के लिए किया जाएगा.

पुस्तकें

टू क्लासिकल प्लेज फ्राम इंडिया : डी.पी. सिन्हा

उपराष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडु ने कहा है कि थिएटर को पुनर्जीवित करने तथा इसे शिक्षा एवं मनोरंजन का एक प्रमुख रूप बनाए जाने की जरूरत है। सुविख्यात नाटककार श्री डी.पी. सिन्हा द्वारा लिखे गए हिंदी नाटकों का अंग्रेजी अनुवाद पुस्तक टू क्लासिकल प्लेज फ्राम इंडियाका विमोचन करने के बाद उपस्थित जनसमूह को संबोधित कर रहे थे।

APPOINTMENTS

टी लता

धनलक्ष्मी बैंक लिमिटेड ने टी लता को प्रबंध निदेशक और सीईओ नियुक्त किया है। उन्होंने जी श्रीराम से पदभार संभाला है, जो 1 जुलाई, 2018 को अपने कार्यकाल को पूरा करने के बाद कार्यालय से सेवानिवृत्त हो गए हैं। उनकी नियुक्ति 2 जुलाई, 2018 से तीन साल की अवधि के लिए होगी।