Daily Current Affairs (Hindi) - 26.07.2018

राष्ट्रीय

बिहार विधानसभा में शराबबंदी कानून में संशोधन पारित हुआ

बिहार विधानसभा नया शराबबंदी कानून पारित हो गया। नए कानून में शराबबंदी के कई प्रावधानों को नरम बनाया गया है। इस कानून को पेश करते हुए मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि शराबबंदी गरीब आदमी के लिए लाया गया था। गरीब लोग अपनी आय का बड़ा हिस्‍सा शराब खरीदने पर खर्च कर रहे थे। घरेलू हिंसा बढ़ गई थी।

नीतीश कुमार ने कहा कि उन्‍होंने शराबबंदी कानून गरीबों की बेहतरी के लिए लागू किया था। बता दें कि नीतीश सरकार ने पिछले दिनों बिहार में शराबबंदी को लेकर कानून में कई अहम बदलावों को कैबिनेट मंजूरी दी थी। इन बदलावों के बाद एक समय वाकई में काफी सख्त दिखते इस कानून की धार अब पहले जैसी नहीं रह गई है। कभी शराब को लेकर काफी सख्ती दिखाने वाले नीतीश की इस नई नरमी के राजनीतिक निहितार्थ भी निकाले जा रहे हैं।


प्रत्‍येक वर्ष सितम्‍बर महीने में राष्‍ट्रीय पोषण माह मनाया जाएगा

महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने कहा है कि प्रत्येक वर्ष सितम्बर को राष्ट्रीय पोषण माह के तौर पर मनाया जाएगा, जो कि कुपोषण के खिलाफ देश की लड़ाई का प्रतीक होगा।
एक आधिकारिक बयान के अनुसार मंत्रालय इस महीने के दौरान कुपोषण से जुड़े मुद्दों जैसे विकास अवरुद्ध होना, अल्प पोषण, खून की कमी और जन्म के समय बच्चों के कम वजन को लेकर जागरूकता उत्पन्न करने के लिए कार्यक्रम आयोजित करेगा तथा किशोरियों, गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं पर जोर देगा।

यह निर्णय मंगलवार को पोषण अभियान के अंतर्गत भारत की पोषण चुनौतियों पर राष्ट्रीय परिषद की दूसरी बैठक में किया गया।बैठक की अध्यक्षता महिला एवं बाल विकास मंत्री मेनका गांधी, उपभोक्ता मामलों, खाद्य एवं जन वितरण मंत्री रामविलास पासवान और नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने की। निर्णय लिया गया कि प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल के जरिये एक लक्षित रुख और अभिसरण का इस्तेमाल बच्चों में विकास अवरुद्ध, अल्प पोषण और खून की कमी का स्तर कम करने के लिए किया जाएगा। बयान में कहा गया है कि महिला एवं बाल विकास मंत्रालय ने ‘सही पोषण देश रोशन’ के लक्ष्य से जुड़ाव और उसे लोकप्रिय बनाने के लिए एक कॉलर टोन और रिंगटोन बनायी है। विज्ञप्ति में कहा गया है कि बैठक के दौरान पोषण अभियान की कॉलर टोन और रिंगटोन भी जारी की गयी।

अंतर्राष्ट्रीय

भारत और युगांडा ने विभिन्‍न क्षेत्रों में चार समझौता ज्ञापन पर हस्‍ताक्षर किए

भारत और युगांडा ने 24 जुलाई 2018 को रक्षा-सहयोग, राजनयिक पासपोर्ट धारकों के लिए वीजा रियायत, सांस्‍कृतिक आदान-प्रदान कार्यक्रम और सामग्री परीक्षण प्रयोगशाला के क्षेत्र में चार समझौता-ज्ञापनों पर हस्‍ताक्षर किये हैं.भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने युगांडा के राष्ट्रपति योवेरी मुसेवेनी के साथ विभिन्न मुद्दों पर विचार-विमर्श भी किया. प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी और युगांडा के राष्‍ट्रपति योवेरी मुसेवेनी के बीच कम्‍पाला में शिष्‍टमंडल स्‍तर की वार्ता के बाद इन समझौतों पर हस्ताक्षर किये गये.दोनों नेताओं ने द्विपक्षीय संबंधों के तमाम पहलुओं की विस्‍तार से समीक्षा की. प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी अफ्रीका के तीन देशों की यात्रा के दूसरे चरण में रवांडा से युगांडा पहुंचे हैं.

भारत और युगांडा के बीच चार समझौता ज्ञापन
1. रक्षा सहयोग पर समझौता ज्ञापन.
2. राजनयिक और आधिकारिक पासपोर्ट धारकों के लिए वीज़ा छूट पर समझौता ज्ञापन.
3. सांस्कृतिक विनिमय कार्यक्रम पर समझौता ज्ञापन.
4. सामग्री परीक्षण प्रयोगशाला पर समझौता ज्ञापन.


म्‍यांमार अक्‍टूबर में आसियान शिक्षा बैठक की मेजबानी करेगा

म्यामांर अक्टूबर में एशियाई शिक्षा मंत्रियों की बैठक की मेजबानी करेगा। इस बैठक का लक्ष्य भारत, चीन और अमेरिका के साथ सहयोग कर शिक्षा क्षेत्र को बढ़ावा देना है।म्यांमार के उपराष्ट्रपति यू मिंट स्वे ने कहा कि एशिया के शिक्षा मंत्रियों की 10वीं बैठक और वार्ता साझेदार देश आसियान और साझेदार देशों से सहयोग को बढ़ावा देंगे। आसियान देशों के चीन, भारत, जापान, दक्षिण कोरिया, न्यूजीलैंड, रूस, अमेरिका और आस्ट्रेलिया सहित साझेदार देश शामिल हैं। पहली बैठक का आयोजन 2006 में सिंगापुर में जबकि आखिरी मलेशिया में हुआ था।

व्यवसाय व अर्थव्यवस्था

इन्वेस्ट इंडिया और बिजनेस फ्रांस ने निवेश को बढ़ावा देने के लिए एमओयू पर हस्ताक्षर किए

इन्वेस्ट इंडिया और बिजनेस फ्रांस ने भारत एवं फ्रांस के स्टार्ट अप्स के बीच सहयोग बढ़ाने तथा निवेश में सहूलियत के लिए एक सहमति पत्र (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए हैं। इसका मुख्य उद्देश्य उद्यमों को व्यावहारिक निवेश सूचनाएं सुलभ कराते हुए प्रत्यक्ष विदेशी निवेश को सुविधाजनक बनाना और दोनों देशों के आर्थिक विकास में सकारात्मक योगदान करने वाले अवसरों पर अपना ध्यान केन्द्रित करने वाली कम्पनियों को आवश्यक सहयोग प्रदान करना है।

इससे संबधित मुख्य तथ्य: फ्रांस के उद्यमियों और भारत के निजी क्षेत्र के बीच अवसरों की पहचान करने और संस्थागत ज्ञान को मजबूत करने संबंधी अनुभवों के आदान-प्रदान और संयुक्त गतिविधियों के जरिए व्यवसाय और स्टार्ट अप्स परितंत्र में सहयोग को बढ़ावा देने हेतु इन्वेस्ट इंडिया और बिजनेस फ्रांस आपस में गठबंधन करेंगी. भारत और फ्रांस के बीच निवेश में साझेदारी के परिणामस्वरूप, भारत और फ्रांस के स्टार्ट-अप पारिस्थितिकी तंत्र के बीच विचारों, प्रतिभा और प्रौद्योगिकियों के परिणाम को जोड़ेगा.

 

खेल

लुईस हैमिल्‍टन ने जर्मन ग्रांड प्रिक्‍स 2018 जीती

मर्सिडीज के ब्रिटिश ड्राइवर लुइस हेमिल्टन ने अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए स्पेनिश ग्रां प्री का खिताब जीत लिया है। एक रिपोर्ट के अनुसार, मौजूदा वर्ल्ड चैंपियन हेमिल्टन ने रविवार को एक घंटे 35 मिनट और 29.972 सेकंड का समय लेते हुए खिताब अपने नाम किया। अजरबेजान ग्रां प्री के बाद उनका यह लगातार दूसरा खिताब है। हेमिल्टन मर्सिडीज के दूसरे ड्राइवर वेल्टेरी बोटास से 20 सेकंड आगे रहे जिन्हें दूसरा स्थान मिला। रेड बुल्स के मेक्स वर्सेटेपन तीसरे और फरारी के ड्राइवर जर्मनी के सेबस्टियन वेटल को चौथा स्थान प्राप्त हुआ।

जर्मन ग्रांड प्रिक्‍स: जर्मन ग्रांड प्रिक्स एक द्विवार्षिक ऑटोमोबाइल दौड़ है जिसे 1926 से 75 वर्षों के साथ आयोजित किया गया है। यह दौड़ अपने पूरे जीवन में केवल तीन अलग-अलग स्थानों पर आयोजित की गई है।

1 राइनलैंड-पैलेटिनेट
2 नूरबर्गिंग, बाडेन-वुर्टेमबर्ग
3 होकेनहेमिंग और बर्लिन

जब पश्चिम जर्मनी में दौड़ आयोजित की गई थी तब भी इस दौड़ को जर्मन ग्रैंड प्रिक्स के रूप में जाना जाता था।चूंकि पश्चिम जर्मनी को तत्काल युद्ध की अवधि में अंतर्राष्ट्रीय घटनाओं में भाग लेने से रोका गया था, इसलिए जर्मन ग्रैंड प्रिक्स 1951 में फॉर्मूला वन वर्ल्ड चैंपियनशिप का हिस्सा बन गया था।

पुस्तकें

रामचंद्र गुहा ने गांधी पर ‘सबसे महत्‍वाकांक्षी पुस्‍तक’ लिखी

प्रसिद्ध इतिहासकार और इंदिरा आफ्टर गांधी और गांधी बीफोर इंडिया जैसी प्रतिष्ठित किताबों सहित कई बेस्टसेलिंग किताबों के लेखक रामचंद्र गुहा ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी पर एक और किताब लिखी है जो अभी छप रही है और सितंबर में प्रकाशित होगी.गांधीजी के जीवन की सबसे स्पष्ट कहानी बताने का दावा करने वाली किताब का नाम गांधी : द इयर्स दैट चेंज्ड द वर्ल्ड (1914-1948) है और इसे पेंग्विन रैंडम हाउस इंडिया प्रकाशित करेगी.

सूत्रों के अनुसार, यह शानदार किताब न सिर्फ गांधी की दक्षिण अफ्रीका से आने और 1948 में उनकी हत्या होने तक की कहानी बताएगी बल्कि हमारे स्वतंत्रता आंदोलन और इसके कई पहलुओं से भी रूबरू कराएगी.यह किताब पाठकों को गांधीजी को ऐसे समझने में मदद करेगी जैसे उनके समकालीन उन्हें समझते थे. किताब भीमराव अंबेडकर, मोहम्मद अली जिन्ना और सुभाष चंद्र बोस और अन्य लोगों से उनकी बहस के नए पहलुओं पर भी प्रकाश डालेगी.

रामचंद्र गुहा के बारे में

  • रामचंद्र गुहा का जन्म देहरादून, उत्तराखण्ड में 29 अप्रैल 1958 को हुआ था।
  • इनके पिता राम दास गुहा भारतीय वानिकी संस्थान के संचालक थे।
  • यह उत्तराखण्ड में ही दून विद्यालय में अपनी पढ़ाई की।
  • वे दून विद्यालय के साप्ताहिक लेखक थे।
  • यह स्नातक की पढ़ाई करने हेतु दिल्ली चले गए। जहाँ वे सेंट स्टीफन महाविद्यालय, दिल्ली में अर्थशास्त्र में बीए किया और वर्ष 1977 में स्नातक की उपाधि प्राप्त की।
  • मास्टर डिग्री प्राप्त करने हेतु यह दिल्ली के दिल्ली स्कूल ऑफ इकोनॉमिक्स से शिक्षा प्राप्त की।
  • इंडियन इंस्टीट्यूट मैनेजमैंट, कोलकाता (भारतीय प्रबंधन संस्थान कलकत्ता) में यह उत्तराखण्ड में वानिकी के सामाजिक इतिहास पर फैलोशिप प्रोग्राम (पीएचडी की डिग्री के समकक्ष) किया।