Daily Current Affairs (Hindi) - 30.07.2018

राष्ट्रीय

सभी पूर्व प्रधान मंत्रियों के लिए संग्रहालय

भारत के सभी पूर्व प्रधान मंत्रियों के लिए संग्रहालय का निर्माण किशोर मूर्ति भवन परिसर में किया जाएगा जिसमें नई दिल्ली में नेहरू मेमोरियल संग्रहालय और पुस्तकालय (NMML) है।यह निर्णय केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता में NMML की 43 वीं वार्षिक आम बैठक में लिया गया था। किशोर मूर्ति भवन परिसर 25 एकड़ में फैला हुआ है और जवाहरलाल नेहरू का वर्तमान संग्रहालय आधा एकड़ जमीन पर फैला है।

नया संग्रहालय 270 करोड़ रुपये की लागत से बनाया जाएगा और नेहरू मेमोरियल की मौजूदा संरचना से अलग होगा। NMML, एसोसिएशन के ज्ञापन के अनुसार, नेहरू के “संग्रहालय, यादगार” के संग्रहालय के पांच कार्यों और रखरखाव के साथ अनिवार्य है, और उनके जीवन से संबंधित अन्य वस्तुओं और स्वतंत्रता आंदोलन उनमें से एक है। अन्य कार्यों में आधुनिक भारत और अन्य प्रतिष्ठित भारतीयों के राष्ट्रवादी नेताओं के कागजात अधिग्रहण, रखरखाव और संरक्षण शामिल हैं; आधुनिक भारत के इतिहास पर पुस्तकालय की स्थापना और रखरखाव; और आधुनिक भारतीय इतिहास में अनुसंधान की सुविधा प्रदान करना शामिल होगा।
 


भारतीय रेलवे ने ‘मिशन सत्‍यनिष्‍ठा’ लॉन्‍च किया

भारतीय रेलवे ने राष्ट्रीय रेल संग्राहलय, नई दिल्ली में जन प्रशासन में नैतिकता के लिए मिशन सत्यनिष्ठा को लांच किया। यह किसी सरकारी संगठन द्वारा आयोजित किया गया इस प्रकार का पहला इवेंट था। यह किसी सरकारी संगठन द्वारा आयोजित किया गया इस प्रकार का पहला कार्यक्रम था। इस कार्यक्रम के दौरान रेल मंत्री पीयूष गोयल ने अधिकारियों को सत्यनिष्ठा की शपथ दिलाई।

सरकारी सेक्टर में नैतिकता और सत्यनिष्ठा जैसे मुद्दे हमेशा ही चिंता का विषय रहे हैं। इस सन्दर्भ में रेलवे कर्मचारियों के लिए कार्य के दौरान नैतिकता और सत्यनिष्ठा अति महत्वपूर्ण है। इस कार्यक्रम के दौरान कार्य में सत्यनिष्ठा के उच्च स्तर बनाये रखने पर चर्चा की गयी। इस विषय पर कार्यक्रम में चर्चा की गयी और भाषण दिए गये।

मिशन सत्यनिष्ठ के उद्देश्य

  • व्यक्तिगत व सार्वजनिक जीवन में नैतिकता के प्रति कर्मचारियों को जागरूक व प्रशिक्षित करना
  • सार्वजानिक जीवन में नैतिकता सम्बन्धी समस्याओं का सामना करना
  • रेलवे में नैतिकता का महत्व
  • रेलवे कर्मचारियों की कार्यकुशलता में वृद्धि करना
  • आन्तरिक संसाधनों द्वारा आन्तरिक शासन में सत्यनिष्ठा लाना

खेल

सौरभ वर्मा ने रूस ओपन बैडमिंटन ट्रॉफी 2018 जीती

भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी सौरभ वर्मा ने अपने अच्छे प्रदर्शन के दम पर रविवार को रूस ओपन का खिताब अपने नाम किया। इसके साथ ही सौरभ इस खिताब को जीतने वाले पहले भारतीय पुरुष खिलाड़ी बन गये हैं। महिला वर्ग में गद्दे रुत्विका शिवानी ने 2016 में खिताबी जीत हासिल की थी। वर्ल्ड नंबर-65 सौरभ ने पुरुष एकल वर्ग के खिताबी मुकाबले में जापान के कोकी वतानाबे को मात दी। सौरभ ने 1 घंटे तक चले इस मुकाबले में वतानाबे को 18-21, 21-12, 21-17 से मात देकर खिताब अपने नाम किया। पूर्व राष्ट्रीय चैंपियन ने 75000 डॉलर इनामी रूस ओपन टूर सुपर 100 बैडमिंटन टूर्नामेंट के फाइनल में जापान के कोकी वतानाबे हराकर इस सत्र का अपना पहला खिताब जीता।
 


बजरंग पूनिया और पिंकी ने यासर दोगु इंटरनेशनल में स्‍वर्ण जीता

भारतीय पहलवान बजरंग पूनिया ने रविवार को तुर्की के इस्ताम्बुल में यासर दोगु अंतरराष्ट्रीय रैंकिंग कुश्ती टूर्नामेंट में 71 किग्रा फ्रीस्टाइल में गोल्ड जीता। वहीं, पहलवान संदीप तोमर को सिल्वर मेडल से संतोष करना पड़ा। भारत ने इस टूर्नामेंट में 10 पदक जीते, जिसमें 7 पदक महिलाओं ने हासिल किए।

महिलाओं के वर्ग में पिंकी गोल्ड जीतने वालीं एकमात्र पहलवान रहीं। पिंकी ने 55 किग्रा भार वर्ग के फाइनल में यूक्रेन की ओल्गा शानिडर को 6-3 से हराया लेकिन ओलिंपिक ब्रॉन्ज मेडलिस्ट साक्षी मलिक ने निराश किया और वह 62 किग्रा भार वर्ग में पदक दौर तक पहुंचने में नाकाम रहीं। महिलाओं ने हालांकि ओवरऑल अच्छा प्रदर्शन किया तथा 7 पदक जीते। कॉमनवेल्थ गेम्स के चैंपियन बजरंग पूनिया लगातार दूसरा गोल्ड जीतने में सफल रहे।

पुरस्कार

अमूल को वर्ष के विक्रेता पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया गया

गुजरात के सहकारी दूध विपणन संघ लिमिटेड (जीसीएमएमएफ), लोकप्रिय अमूल ब्रांड के दूध और डेयरी उत्पादों के विपणक, को अंतर्राष्ट्रीय विज्ञापन संघ (आईएएआई) द्वारा 'मार्केट ऑफ द ईयर' पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। 41,000 करोड़ रुपये के ब्रांड अमूल को जीसीएमएमएफ द्वारा विपणन किया जाता है, गुजरात के 36 लाख किसानों के स्वामित्व वाले स0बसे बड़े सहकारी समिति।

दूध और डेयरी उत्पादों में सबसे पसंदीदा ब्रांड अमूल न केवल अपने सहकारी संरचना और किसान के विश्वास के लिए जाना जाता है, बल्कि इसकी मार्केटिंग और विज्ञापन रणनीतियों के लिए भी जाना जाता है। 70 साल पुराना ब्रांड अभी भी "अमूल - द टेस्ट ऑफ इंडिया", 'अमूल दुध पीता है इंडिया' और 'यूटरली बटरली स्वादिष्ट' अभियानों के माध्यम से दिल में युवा है। ब्रांड वर्तमान में विज्ञापन में अपने कुल बजट का 1 प्रतिशत से भी कम खर्च करता है।

नियुक्ति

सुरेंद्र रोशा

हांगकांग एंड शंघाई बैंकिंग कॉर्पोरेशन (एचएसबीसी) ने एचएसबीसी इंडिया के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के रूप में सुरेंद्र रोशा की नियुक्ति की घोषणा की है। रोशा जयंत रिखे की जगह लेंगे, जो चिकित्सा कारणों से छुट्टी ले रहे हैं। रोसा, जो वर्तमान में एशिया-प्रशांत के लिए एचएसबीसी के वित्तीय संस्थान समूह (एफआईजी) के प्रमुख हैं, को वित्तीय सेवा क्षेत्र में 27 वर्ष का अनुभव है।